SSC 10th Hindi Internal Assessment

SSC 10th Hindi Internal Assessment
कक्षा नौवीं एवं दसवीं –
विषय – हिंदी प्रथम/द्वितीय भाषा ( कुमारभारती/लोकभारती)
लिखित व मौखिकी मूल्यमापन योजना
महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक व उच्च माध्यमिक शिक्षण मंडळ, पुणे
Class IX and X –
Subject – Hindi First/Second Language (Kumarabharati/Lokabharati)
Written and Oral Assessment Scheme
Maharashtra State Board of Secondary and Higher Secondary Education, Pune
SSC 10th Hindi Internal Assessment
प्रथम सत्रद्वितीय सत्र
लेखी परीक्षा – 80 अंक अंतर्गत मूल्यमापन 20 अंकलेखी परीक्षा 80 अंक अंतर्गत मूल्यमापन – 20 अंक
अ) स्वाध्याय 5 – 5 अंकों के 2 कुल अंक 10अ) स्वाध्याय 5 – 5 अंकों के 2 कुल अंक 10
ब) मौखिक परीक्षा 1) श्रवण कौशल 5 अंक 2) भाषण कौशल – 5 अंकब) मौखिक परीक्षा 1) श्रवण कौशल 5 अंक 2) भाषण कौशल – 5 अंक
अ ) स्वाध्याय
प्रथम सत्र – 2 स्वाध्याय 10 अंक, प्रत्येक के लिए 5 अंक
द्वितीय सत्र – 2 स्वाध्याय 10 अंक, प्रत्येक के लिए 5 अंक
सूचनाएँ –  चारो स्वाध्याय पाठयपुस्तक में अंतर्निहित गद्य, पद्य, भाषा अध्ययन (व्याकरण), उपयोजित लेखन ( रचना विभाग) इन विभागों पर आधारित हो ।
v दो विभाग प्रथम सत्र में तथा दो विभाग द्वितीय सत्र में लेना अपेक्षित है ।
v विद्यार्थियों के लिखित स्वाध्याय विद्यालय द्वारा प्रमाणित किए ‘फुलस्केप कागज पर लेना अनिवार्य है । , हुए स्वतंत्र
v विद्यार्थियों के लिखित स्वाध्याय एवं अंकदान सूची शालेय स्तर पर सुरक्षित रखना अनिवार्य है ।
ब) मौखिक परीक्षा
1. श्रवणकौशल (निम्नलिखित में से केवल एक) 5 अंक
1) गद्यांश सुनकर उसपर आधारित पूछे गए पाँच वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के उत्तर लिखना ।
II)  दिए गए विषय पर विचार प्रकट करना ।
सूचनाएँ –
1)  पाठयपुस्तक में ‘संभाषणीय’ ‘मौलिक सृजन’ और ‘अभिव्यक्ति’ के अंतर्गत दिए गए विषयों का आधार लिया जाएँ या । पाठयपुस्तक के अलावा अन्य विषय लेना चाहते हो तो वे विषय विद्यार्थियों के अनुभव विश्व से संबंधित हो ।
2)  विषय पहले से ही दें। ऐन समय पर न दें ।
के पाठ अथवा कविता पर आठ से दस वाक्यों में अपने विचार प्रकट करना । III) * पाठयपुस्तक के पाठ अथवा कविता पर आठ
सूचनाएँ. –
1) इस कौशल का मूल्यांकन करते समय निम्न मुद्दों पर गौर करें ।
• पाठ / कविता का नाम, रचनाकार का नाम, विधा, संक्षेप में आशय, पसंद आने वाली पंक्तियाँ और उसका कारण बताना अपेक्षित है ।
• विद्यार्थी का उच्चारण, आत्मविश्वास, प्रभावपूर्ण अभिव्यक्ति और मुद्दों सहित विश्लेषण अपेक्षित है ।
महत्त्वपूर्ण –
1) श्रवण कौशल की उत्तर पत्रिकाएँ एकत्रित करके संजोकर रखें ।
2) संभाषण कौशल – पढी हुई पुस्तक के बारे में विद्यार्थी के स्वमत संबंधी एक-दो वाक्यों में परीक्षक की टिप्पणी आवश्यक है ।
3) श्रवण कौशल के लिए प्रयुक्त किया जानेवाला गद्यांश / पद्यांश आशय किसी भी व्यक्ति, समाज, ऐतिहासिक व्यक्ति, जाति, धर्म, पंथ, वर्ण, लिंग, राजनैतिक आदि के संबंध में आक्षेपार्ह न हो । किसी की भावनाओं को क्षति पहुँचानेवाला आशय न चुना जाए ।
4 ) ‘ रिक्त स्थानों की पूर्ति ‘ के अलावा अन्य वस्तुनिष्ठ प्रश्न प्रकारों का प्रयोग करें ।
5) कक्षा नौवीं के लिए दोनों सत्र परीक्षाओं के तथा कक्षा दसवीं की माध्यमिक शालांत परीक्षा के अंतर्गत मूल्यमापन की पूर्ण सामग्री सँभालकर रखें ।
iii) गद्यांश का चयन करते समय ध्यान में रखे कि उस पर तीन वस्तुनिष्ठ प्रश्नों की निर्मिति हो सके । (एक शब्द में, एक वाक्य में उत्तर । प्रश्न आकलन आधारित हो । )
iv) विद्यार्थियों की अवधान कक्षा को ध्यान में रखते हुए गद्यांश का चयन करे ।
v) विद्यार्थियों के बीस-बीस के गुट बनाएँ ।
(vi) प्रत्येक गुट के लिए अलग गद्यांश दिया जाएँ । ।
vii) ध्यान रहे कि चुने गए गद्यांश, पूछे गए प्रश्न, नमुना उत्तरपत्र एवं विद्यार्थियों के उत्तर पत्र
शालेय स्तर पर संभालकर रखने है ।
II) दो वाक्य अथवा 6 शब्द सुनकर लिखना ।
सूचनाएँ – वाक्य अथवा शब्द पाठयपुस्तक से ही लेने है ।
‘चयनित वाक्यों या शब्दों में संयुक्ताक्षर, अनुस्वारयुक्त शब्द, अनुनासिक शब्द एवं * विरामचिह्न आदि का होना आवश्यक है ।
3) सूचनाएँ –
i) चयनित पद्यांश पाठयपुस्तक से ही हो ।
‘कविता सुनकर उसपर आधारित कम से कम तीन वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के उत्तर लिखना ।
ii) विद्यार्थियों की अवधान कक्षा को ध्यान में रखते हुए ऐसा पद्यांश चुने जिस पर तीन प्रश्नों की निर्मिति हो सकें।
(iii) प्रत्येक गुट के लिए अलग-अलग पद्यांश हो ।
4) ऑडिओक्लिप सुनकर उसपर आधारित वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के उत्तर लिखना (तीन प्रश्न )
सूचना ऑडिओक्लिप पाठयपुस्तक से संबंधित 2 / 3 मिनट की हो ।  –
भाषण कौशल (निम्नलिखित में से केवल एक) (2 अंक) 1) पढ़ी हुई किसी रचनाकार की कृति के संदर्भ में स्वमत प्रकट करना ।
सूचनाएँ –
इस कौशल का मूल्यांकन करते समय निम्न मुद्दों पर गौर करें. –
i) पुस्तक का नाम, रचनाकार, संक्षेप में आशय, पुस्तक पसंद आने के कारण ।
ii) स्वमत बताते समय विद्यार्थी का उच्चारण, प्रभावपूर्ण अभिव्यक्ति, आत्मविश्वास आदि के आधार पर अंकदान किए जाएँ ।
II) दिए गए विषय पर विचार प्रकट करना ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!